Wednesday, March 8, 2017

फुरसत


                                         समय से संवाद


ऐसे कितने ही ड्राफ्ट्स ब्लॉग में पड़ चुके हैं जो कभी पूरा होकर पोस्ट नहीं हो सके.

जो फिल्म अच्छी नहीं लगती हो उसके भी कुछ दृश्य स्मरण में रह जाते हैं. डियर जिंदगी के एक दृश्य में आलिया भट्ट मोबाइल पर एक मैसेज टाइप करती है लेकिन उसे भेजे बिना डिलिट कर देती है. ऐसा करते हुए मन में जो द्वद्व चलता है उसका लंबा अनुभव होने के कारण फिल्म का यह दृश्य करीब से छूकर गुजरता हुआ महसूस हुआ.

आप क्या लिख लेंगे!

कई लोग लिखते हैं. कई को पढ़ता हूं. पहले बहुत पढ़ता था आजकल समय की कमी के कारण सबको पढ़ना हो नहीं पाता. फिर भी कभी-कभी खोजता हूं तो पाता हूं कि कई लोगों ने लिखना छोड़ दिया है. इन लोगों के सामने भी शायद वही वजह होगी.

-----

सर्वेश से एक अंतराल के बाद बात होती रहती है. मुहल्ले का हालचाल पता चलता रहता है. तीन ताजी जानकारी मिली-















चंदन भैया की मां अब इस दुनिया में नहीं रही. रंजीत की मां का भी निधन हो गया और दो दिनों पहले गणेश सहनी भी दुनिया को अलविदा कह गये. इस तीन खबरों ने जितना झटका दिया उससे ज्यादा उस खबर ने दिया कि


1 comment:

  1. EXPOSE THE CONSPIRACY! GOD AND THE DEVIL ARE BACKWARDS!! DON'T LET GUILT-FEELINGS, FEAR AND OTHER KINDS OF EMOTIONAL MANIPULATION RULE YOUR CHOICES IN LIFE!!

    http://joyofsatan.org/
    http://exposingchristianity.org/
    https://exposingthelieofislam.wordpress.com/
    http://www.666blacksun.net/

    ReplyDelete